आयुष्मान भारत योजना के लाभ, महत्व, योग्यता – राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा

आयुष्मान भारत योजना के लाभ, महत्व, योग्यता – राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा

भारत की अधिकतम जनसंख्या के पास बीमा कवर नहीं है जिस वजह से दुर्घटना या बीमारी के कारण अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति में ज्यादातर परिवार आर्थिक मंदी में आ जाते हैं। देश की अर्थव्यवस्था में असंगठित क्षेत्र का एक बहुत बड़ा योगदान है। लेकिन इस क्षेत्र में आने वाले लोगों के पास अपने लिए सोशल सिक्योरिटी ना बराबर होती है। इस क्षेत्र में आने वाले लोगों को आर्थिक तौर से मजबूत बनाने के लिए समय-समय पर आने वाली सरकारे कुछ खास योजनाएं लाती रहती है जैसे कि आयुष्मान भारत योजना (राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना) इत्यादि।

लेकिन जानकारी के अभाव के कारण इन योजनाओं के लाभ प्रार्थी इनका लाभ नहीं उठा पाते। आज हम प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना पर विस्तार से चर्चा करेंगे। हम आयुष्मान भारत योजना के लाभ, कौन इस के योग्य हैं, और इसके लिए नामांकन कैसे कराएं पर चर्चा करेंगे।

ऐसा देखा गया है कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा (National Health Insurance Scheme) होने के बावजूद भी ज्यादातर परिवार स्वास्थ्य सेवाओं के लिए खुद से पैसे अदा करते हैं। इसका सबसे बड़ा कारण सिस्टम की नाकामी माना जा सकता है जिसकी वजह से गरीबी रेखा में आने वाले परिवारों तक ऐसी योजनाओं की जानकारी नहीं पहुंच पाती।

लेकिन आयुष्मान भारत योजना भारत में बड़ी तेजी से मशहूर हुई है और ज्यादा से ज्यादा लोग इसका लाभ उठाना चाहते हैं। यह योजना किसी भी देश की सरकार द्वारा खुद से फंड की जाने वाली सबसे बड़ी योजनाओं में से एक है।

यहां पर ध्यान दें राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना और आयुष्मान बीमा योजना दोनों अलग-अलग योजनाएं हैं। पहली योजना में आपको ₹30000 तक का कवर दिया जाता है और उसके लिए आपको ₹30 सालाना प्रीमियम भरना पड़ता है।

नई योजना जिसे हम प्रधानमंत्री आयुष्मान बीमा योजना के नाम से जानते हैं में ₹500000 तक का कवर प्रदान किया जाता है और इसके लिए लाभार्थी को किसी तरह का प्रीमियम भी अदा नहीं करना पड़ता। प्रधानमंत्री बीमा योजना के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ते रहे।

आयुष्मान भारत योजना से जुड़े सवाल और जवाब

आयुष्मान भारत योजना के लाभ

आयुष्मान भारत योजना क्या है? – Ayushman Bharat Yojana or National Health Insurance Scheme in Hindi

भारत सरकार ने गरीबी रेखा के नीचे आने वाले परिवारों के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना (Rashtriya Swasthya Bima Yojana) की शुरुआत की थी जिसको की एक विफल योजना माना गया क्योंकि यह आम लोगों तक पहुंच नहीं पाई। इस योजना के अंतर्गत आने वाले परिवारों को सरकार की ओर से निशुल्क ₹30000 तक की स्वास्थ्य बीमा सेवाएं प्रदान की जाती थी। इसकी विफलता के कारण कुछ राज्यों ने इसको बंद कर दिया है।

अब मौजूदा सरकार ने एक नई योजना आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojana) जिसे हम प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना भी कहते हैं की शुरुआत की है। जिसमें मिलने वाले लाभ पहली योजना से ज्यादा है, लेकिन RSBY योजना भी चल रही है, और इसमें लाभार्थियों को किसी तरह का प्रीमियम भी नहीं देना होता।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana) को शुरू करने का मुख्य कारण यह था कि असंगठित क्षेत्र के कामगारों के बीमार पड़ने या अस्पताल में भर्ती कराने की स्थिति में उनकी आर्थिक सहायता की जा सके जिससे कि वह आर्थिक मंदी में ना आए और उनका इलाज अच्छे से हो सके।

नई राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत 10 करोड़ परिवारों को कवर किया जाएगा जिसमें लगभग 50 करोड़ लाभार्थी होंगे। आयुष्मान भारत योजना में प्रति परिवार ₹500000 का कवर प्रदान किया जाता है जिससे परिवार इंपैनल्ड अस्पताल में निशुल्क इलाज सुविधा प्राप्त कर सकता है। यह योजना पूरे देश में 1-अप्रैल-2018 से लागू हो चुकी है।

योजना में हर तरह की बीमारी चाहे वह बीमा कवर खरीदने से पहले हो या बाद में को कवर किया जाता है। इस योजना से यह सुनिश्चित किया जाएगा कि गरीब वर्ग के लोग बिना आर्थिक तंगी के अच्छी इलाज सुविधा प्राप्त कर सकें।

कितना प्रीमियम अदा करना पड़ेगा?

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना का असल प्रीमियम केंद्र सरकार द्वारा अदा किया जाता है। इस योजना के अंतर्गत आने वाले परिवार को किसी तरह का प्रीमियम अदा करने की जरूरत नहीं हैं। इस योजना के अंतर्गत आने वाला परिवार अस्पताल में निशुल्क इलाज करवा सकता है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना लाभार्थी कौन है? – Eligibility for National Health Insurance Scheme in Hindi

गरीबी रेखा (बीपीएल कार्ड होल्डर) के अंतर्गत आने वाले कामगार और उनके परिवार के सदस्य इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। सरकार द्वारा सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना (Socio-Economic Caste Census) डेटा के आधार पर बनाई गई गरीबी रेखा में आने वाले परिवारों की सूची (जो कि राज्य सरकारों को दी गई है) में आने वाला परिवार आयुष्मान भारत योजना या राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना लाभार्थी हैं। गरीबी रेखा में आने वाला परिवार इस बीमा सेवा का लाभ उठा सकता है। जिन परिवारों का नाम सूची में नहीं है वह इसके लिए योग्य नहीं होंगी।

इसके अतिरिक्त जिन परिवारों के पास राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना स्मार्ट कार्ड पहले से थी वह भी इस बीमा योजना के लाभार्थी है।

आयुष्मान भारत योजना के लाभ

प्रधानमंत्री आयुष्मान बीमा योजना लाभार्थी को निशुल्क पेपरलेस इलाज सुविधा एंपेनल्ड अस्पताल में प्राप्त होती है। यहां नीचे आप आयुष्मान भारत योजना के लाभ पढ़ सकते हैं:

  • आयुष्मान बीमा योजना में कामगार सहित परिवार के सभी सदस्यों को कवर किया जाता है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना में 5 से ज्यादा सदस्य एक कार्ड के अंतर्गत कवर नहीं किए जा सकते थे। जिस परिवार में 5 से ज्यादा सदस्य होते थे उनको यह तय करना पड़ता था कि किन पांच सदस्यों के लिए वह राष्ट्रीय बीमा योजना लेना चाहता है। लेकिन नई आयुष्मान योजना में परिवार के सारे सदस्य शामिल होते हैं।
  • इस स्वास्थ्य बीमा में ₹500000 तक का निशुल्क इलाज करवाया जा सकता है। इलाज के लिए बेनेफिशरी को किसी भी तरह अदायगी नहीं करनी पड़ती।
  • आयुष्मान बीमा योजना में हर तरह की बीमारी चाहे वह बीमा करवाने से पहले हो या बाद में को कवर किया जाता है।
  • अस्पताल में आने-जाने के लिए परिवहन खर्चा भी दिया जाता है।
  • सर्जरी जिसमें अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं है उसके लिए भी कवर प्राप्त किया जा सकता है।
  • दवाइयों का खर्चा, अस्पताल में रहने के खर्चे, नवजात बच्चे के लिए कवर भी शामिल किया गया है। लाभों की पूरी सूची आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की अधिकारिक वेबसाइट से प्राप्त की जा सकती है।
  • इलाज सुविधा सभी सरकारी अस्पतालों और प्राइवेट एंपेनल्ड हॉस्पिटल से प्राप्त की जा सकती है।

योजना के लिए नामांकन कैसे करवाएं?

सरकार द्वारा सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना (Socio-Economic Caste Census) डेटा के आधार पर बनाई गई अभाव और व्यावसायिक मानदंडों के आधार पर गरीबी रेखा में आने वाले परिवारों (ग्रामीण और शहरी) की सूची में सभी परिवार इस योजना के हकदार हैं। इसके अतिरिक्त किसी तरह का रजिस्ट्रेशन करवाने की जरूरत नहीं है। सूची में आने वाले परिवार अपने आप आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी बन जाते हैं।

पात्र परिवारों को एक समर्पित PMJAY परिवार पहचान संख्या आवंटित की जाएगी। अस्पताल में भर्ती होने के समय लाभार्थी को एक ई-कार्ड भी दिया जाता है।

कैसे जाने की हम आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी है या नहीं?

यह जानने के लिए कि आप प्रधानमंत्री बीमा योजना के अंतर्गत आते हैं या नहीं आप आयुष्मान योजना टोल फ्री नंबर 1800 111 565 / 14555 पर कॉल कर सकते हैं।

ऑनलाइन योग्यता की जांच करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना मे शामिल अस्पतालों की सूची

योजना के अंतर्गत सभी सरकारी अस्पताल आते हैं इसके अतिरिक्त कुछ प्राइवेट अस्पताल भी हैं जिनकी सूची PMJAY की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर प्राप्त की जा सकती है। ज्यादा जानकारी के लिए आप आयुष्मान बीमा योजना नंबर 1800111565 पर कॉल कर सकते हैं।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना

योजना से जुड़ी हुई ज्यादा जानकारी राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना की वेबसाइट https://mera.pmjay.gov.in/search/login पर जाकर ली जा सकती है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.